चाची की चुदाई की सच्ची देसी कहानी

दोस्तो, मेरा नाम पवन कुमार है, मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है. मैं आज आप सभी को अपनी एक मजेदार सेक्सी कहानी सुनाने जा रहा हूँ. यह मेरे और मेरी चाची के बीच की सेक्स की कहानी है.

Read More

कोमल की अन्तर्वासना शांत की – Part 2

मैं उसे समझाता और हमेशा कहता कि इसमें मैंने क्या गलत किया है तुम यदि मेरे साथ अच्छी तरीके से बर्ताव करोगी तो क्या मैं तुम्हारे साथ अच्छे से बात नहीं करूंगा लेकिन कोमल को तो अपनी आदत से बिल्कुल बाज नहीं आना था और वह मुझसे हमेशा ही झगड़ा करती रहती थी। मेरे ऑफिस में काम करने वाली लड़की से मेरी नजदीकियां बढ़ने लगी थी और मैं ज्यादातर समय उसी के साथ बिताया करता था। मैं कोमल को बहुत कम मिला करता था लेकिन कोमल को इस बात से बहुत तकलीफ होती थी कि मैं उससे बात नहीं किया करता हूं। मैंने भी सोच लिया था कि जब तक वह अपनी आदतों को नहीं बदलेगी तब तक मैं भी उससे कोई रिलेशन नहीं रखूंगा और हम दोनों का रिश्ता पूरी तरीके से खत्म हो चुका था। कोमल को अब यह समझ आ चुका था कि मैं नहीं चाहता कि वह मेरे साथ रिलेशन में रहे इसीलिए उसने भी अपने आप को शायद इस बात के लिए तैयार कर लिया था। कोमल मुझसे बहुत कम मिला करती थी लेकिन अभी वह दिल्ली में ही जॉब कर रही थी मेरी उससे एक महीने बाद मुलाकात हुई और जब मैं कोमल से मिला तो कोमल ने मुझसे ज्यादा बात नहीं की मुझे लगा कि कोमल अब बदल चुकी है। मैंने कोमल को कहा कि हम दोनों लंच पर चले हम दोनों लंच पर गए तो कोमल ने मुझ से बहुत कम बात की मुझे इस बात की खुशी थी कि अब कम से कम कोमल का व्यवहार बदल चुका है। उस दिन हम लोगों ने साथ में लंच किया मुझे नहीं मालूम था कि कोमल वाकई में बदल चुकी है और उसे अपनी गलती का एहसास हो चुका है। मैंने कोमल से कहा मुझे इस बात की खुशी है कि तुम बदल चुकी हो कोमल मुझे कहने लगी तुमने मुझे कभी अच्छे से समय दिया ही नहीं है।

Read More

कोचिंग क्लास के बहाने बन गए चुदाई के फ़साने – Part 2

मैं तो उस टाइम ख़ुशी के मारे पागल हो गया | फिर जब दोस्त की बहन उसे मेरे पास लेकर आई तो मेरा दोस्त मुझसे कहने लगा भाई अतुल जो बात करनी है कर ले | फिर मैंने उसे हाय बोला और सबसे पहले उसका नाम पूछा | उसका नाम कायनात था वो २२ साल की थी और मेरे बारे में तो मेरे दोस्त की बहन ने उसे बता ही दिया था | फिर उसके बाद कायनात मुझसे बोलने लगी कि क्या आप मुझे पसंद करते है तो मैंने कहा हाँ मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ | तो बोलने लगी अछा तो इस लिए आप मुझे रोज देखते रहते थे तो मैंने बोला हाँ तो वो हसने लगी और कहने लगी तो आप मुझे बुला कर के बोल सकते थे | फिर मैंने कहा मुझे अच्छा नहीं लगता और थोडा डरता भी था | उसके बाद वो कहने लगी आप भी मुझे अच्छे लगते हो | फिर उसके बाद हम दोनों की दोस्ती हो गयी और उसी समय मैंने कायनात का मोबाइल नंबर भी ले लिया और उसके बाद कायनात और मेरे दोस्त की बहन कोचिंग चले गए | इर मेरे दोस्त बिट्टू ने मुझसे कहा ठीक है भाई तेरा काम तो हो गया अब जाता हूँ | फिर उसके बाद मैं भी अपनी दुकान में चला गया और उसके बाद जब कोचिंग छूट गई तो मैंने कायनात को मेसेज किया | उस दिन के बाद हम दोनों की मेसेज में बात होने लगी और हम दोनों एक दूसरे को फ़ोन भी करने लगे थे | हमारी रात रात भर फ़ोन में बात होने लगी और वो रोज मुझसे मिलती थी जब कोचिंग आती थी | वो कोचिंग से सीधे कालेज जाती थी कभी कभी मैं कायनात को कालेज छोड़ने जाता था | उसके बाद मैंने सोचा की अब कायनात को अपने रूम बुला कर चोदुंगा |

Read More

चुदक्कड़ भाभी और अनाड़ी देवर का कड़क लंड – Part 2

मैंने देखा, तो आंधी की वजह से लाइट चली गई थी. रूम में अंधेरा हो गया था. बस बिज़ली की चमक ही अन्दर आ रही थी, जिससे कभी कभी थोड़ी रोशनी हो जाती थी.

Read More

माँ बेटा सेक्स की गंदी कहानी

माँ बेटा सेक्स की गंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपने दो जवान बेटों से चुद गई. असल में मेरा तलाक हो चुका था और तब से मैं चुदी नहीं थी. अपनी वासना शांत करने के लिए मैंने …

Read More

कुंवारी लड़की की गुलाबी सील टूट गई

हाय दोस्तो, मेरा नाम राज है और मैं पुणे महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ. ये मेरी पहली कहानी है. मेरी उम्र 25 साल की है. इस कहानी को हुए 3 साल हो गए हैं. न जाने कब से मुझे अपनी कहानी आपसे साझा करनी थी, पर कर ही नहीं पाया.

Read More

दोस्त की जुगाड़ भाभी की डबल चुदाई – Part 2

मैं हट गया और दोस्त ने उसकी टांगों को खींच कर उसे चित लिटा दिया. उसने भी अपनी चूत लंड के लिए खोल दी. दोस्त ने उसकी चुत में अपना लंड लगाया और फांकों में सुपारा रगड़ने लगा.

Read More

चूत बोले फच फच फच – Part 2

हम दोनों ने एक दूसरे का साथ देने का फैसला कर लिया था और मैंने अपनी मां को जब अजय से मिलवाया तो मेरी मां को अजय बहुत पसंद आया। मेरी माँ अजय से कहने लगी बेटा देखो हम चाहते हैं कि तुम काजल को हमेशा खुश रखो और तुम काजल का ध्यान दो अजय ने कहा मैं काजल से प्यार करता हूं और उसका हमेशा ही ध्यान रखूंगा अब काजल की जिम्मेदारी मुझ पर ही है। कुछ ही समय बाद हम लोगों की सगाई भी हो गई मेरे पिताजी को तो जैसे हमसे कोई लेना देना ही नहीं था। मैं अपनी मां के लिए बहुत ज्यादा दुखी थी क्योंकि जब मेरी शादी हो जाएगी तो उसके बाद मेरी मां की देखभाल कौन करेगा क्योंकि मेरे पिता जी से तो मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी। मुझे दिन-रात यही चिंता सताती रहती लेकिन जब भी मैं अजय से मिलती तो मुझे बहुत अच्छा लगता। जब भी मैं अजय से मिलती तो मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती थी और अजय भी बहुत खुश होते थे। एक दिन अजय और मेरे बीच फोन पर काफी देर तक बात हुई उस दिन जब हम दोनों की बात हो रही थी तो हम दोनों की जवानी उछाल मारने लगी थी। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं अपने आपको नहीं रोक पाऊंगा उस रात मैंने अजय के साथ काफी ज्यादा अश्लील बातें की अजय भी खुश हो चुके थे। वह मुझे कहने लगे हम लोगों को मिलना चाहिए हम लोगों ने कुछ समय बाद मिलने का फैसला किया तो हम दोनों ही अपने आपको नहीं रोक पाए। अजय मुझे कहने लगे आज मैं तुम्हारे साथ शारीरिक संबंध बनाना चाहता हूं अजय को मैंने अपना दिल तो दे ही दिया था उसे अब मैं अपना तन भी देना चाहती थी। मैने अपना तन बदन सौंपने का पूरा फैसला कर लिया था मैं और अजय एक गेस्ट हाउस में चले गए।

Read More

बहन की ग़लती, मां का राज़-1

जवान होने पर भी मैंने कोई चूत नहीं देखी थी. मैंने गाँव की एक औरत को पटाने की कोशिश की. वो मुझे चूत देने के लिए तैयार भी हो गयी. मैंने उस औरत की चुदाई कैसे की?

Read More

भाभी की चूत की प्यास बुझाई – Part 2

मैंने उसकी पैंटी को उसकी चूत से अलग कर दिया. भाभी की चूत एकदम चिकनी और बला की खूबसूरत थी. चूत पर एक भी बाल नहीं था. भाभी की गोरी-गोरी जाँघों में उसकी चूत फड़क रही थी.

Read More

प्यारी भाभी संग जीवन का पहला सेक्स – Part 2

फिर आखिर एक दिन वो मौका आ ही गया. मॉम डैड कोई काम से गांव गए थे और भाई अपने दोस्तों के साथ घूमने और फ़िल्म देखने गए थे. दोपहर के 2 बजे थे, पूरा घर सूना था. सब अपने अपने घर में सोये हुए थे. मैं भी टीवी देख रहा था.

Read More

सेक्स की पहली नींव रख दी

मैं कुछ दिनों पहले गुंजन से एक मॉल में मिला लेकिन उसने अपनी नजरें मुझसे बिल्कुल नहीं मिलाई वह नजर झुकाते हुए वहां से चली गई, गुंजन शायद अपने पति के साथ थी लेकिन उसने मेरी तरफ एक बार भी नहीं देखा मुझे ऐसा लगा कि जैसे गुंजन को अपनी गलती का कोई एहसास ही नहीं है परंतु मेरी भी अब शादी हो चुकी है और मुझे भी अब गुंजन से उतना ज्यादा फर्क नहीं पड़ता लेकिन जब भी मैं उसके बारे में सोचता हूं तो मुझे अपने पुराने दिन याद आ जाते हैं जब मैं उसे गांव में मिला था।

Read More

चमकती गांड और मेरा चमकता वीर्य – Part 2

इसके लिए मैंने मोहन से मिलने की बात कही तो रूपा तैयार हो गई और मैंने मोहन से कहा देखो मोहन मुझे तुमसे कोई भी परेशानी नहीं है लेकिन मैं चाहता हूं कि रूपा पहले अपनी जिंदगी में कुछ कर ले वह अपने पैरों पर खड़ी हो जाए उसके बाद तुम दोनों शादी कर लो मुझे तुम्हारे रिश्ते से कोई आपत्ति नहीं है। मोहन कहने लगा बाबूजी रूपा आपको बहुत ज्यादा मानती है और आपका बहुत सम्मान करती है इसलिए पहले वह कुछ कर ले उसके बाद हम लोग अपने रिश्ते के बारे में सोचेंगे। यह कहते हुए मोहन घर से चला गया जब मोहन चला गया तो उसके बाद रूपा मुझे कहने लगी बाबू जी आप मुझसे कितना प्यार करते हैं मैंने सब सुन लिया था। वह मेंरे गले लग कर के कहने लगी मैं आपको छोड़कर कभी नहीं जाऊंगी मेरी आंखों में आंसू आ चुके थे और मुझे इस बात का अंदाजा लग चुका था कि वह दोनों एक दूसरे से कितना प्यार करते हैं। मैं भी उन दोनों के रिश्ते के बीच में नहीं आना चाहता था रूपा भी पूरी मेहनत करने लगी और उसकी बीएड की पढ़ाई पूरी हो चुकी थी उसके बाद उसका सिलेक्शन एक अच्छे स्कूल में हो गया। रूपा इस बात से बहुत खुश थी और कुछ ही समय बाद मैंने मोहन के साथ रूपा की शादी कर दी मुझे कभी अकेलापन सा महसूस होता था लेकिन रूपा को तो जान ही था। मैं दिन रात सिर्फ इसी चिंता में लगा रहता की जब रूपा की शादी हो जाएगी तो उसके बाद मैं कैसे अपना जीवन अकेले व्यतीत करूगा शायद मेरी किस्मत में हमारे पड़ोस में रहने वाली कल्पना भाभी थी। वह मुझे तिरछी निगाहों से देखती रहती थी एक दिन मैंने उन्हें अपने पास बुलाया तो हम दोनो ने काफी देर तक बात की उनके पति का देहांत हो चुका था वह भी अकेलेपन से जूझ रही थी। मैं उनकी पीड़ा को समझ सकता था वह मेरी पीड़ा को समझ सकती थी हम दोनों एक दूसरे से जब भी बात करते तो बहुत अच्छा लगता।

Read More

अंकल पैंटी आए और चोद गए – Part 2

अंकल ने मेरे नाल पकड लिए और मुझे ऊपर की और खिंच लिया. और वो मुझे किस करने लगे और एक ही ज़टके में उन्होंने मेरी टी शर्ट को उतार दिया. मेरी ब्रा भी निचे कर के वो मेरे बूब्स को चूसने लगे सेक्सी आवाजों के साथ. वो निपल्स को पिंच करते हुए मेरे बूब्स को मजे से लिक कर रहै थे.

Read More

जवानी का जोश अलग होता है – Part 2

मुझे विजय के घर पर दो दिन हो चुके थे और विजय तो अपने ऑफिस चले जाया करता था तो पायल और मैं साथ में समय बिताया करते पायल और मैं शाम के वक्त उनके घर के पास ही एक पार्क है हम वहां पर बैठने के लिए चले जाया करते थे। हम दोनों एक साथ काफी अच्छा समय बिता रहे थे पायल ने मुझे कहा मुझे तो कभी उम्मीद भी नहीं थी कि आप से मैं प्यार कर बैठूंगी लेकिन हम दोनों का प्यार बड़ा ही अजीब था हम दोनों की फोन पर ही बात हुई थी और फोन के माध्यम से ही हम दोनों के बीच प्यार हो गया। मैंने पायल से कहा मुझे पहले तो बहुत अजीब लग रहा था जब मैं तुमसे बात करता था क्योंकि मुझे डर था कि यदि तुमने यह बात अजय को बता दी तो वह मेरे बारे में क्या सोचेगा लेकिन मैंने हिम्मत करते हुए तुमसे अपने दिल की बात कह दी थी। पायल मुझसे कहने लगी मैं जब आपसे बात करती हूं मुझे भी अच्छा लगता था और मुझे बिल्कुल उम्मीद नहीं थी कि मैं आपसे प्यार कर बैठूंगी लेकिन हम दोनों के बीच बहुत अच्छा रिलेशन है और मैं आपसे बहुत ज्यादा प्यार करती हूं। मैं कुछ और दिनों तक चंडीगढ़ में रहना चाहता था क्योंकि शायद दोबारा चंडीगढ़ आना मेरे लिए मुश्किल था इसलिए मैंने कुछ दिन और रुकने का फैसला कर लिया था। मैं और पायल ज्यादातर समय साथ ही बिताया करते थे एक दिन उसके पापा मम्मी भी कहीं चले गए पायल और मैं घर में अकेले थे हम दोनों अपनी जवानी पर काबू ना कर सके। मैंने जब पायल के गुलाबी होठों को किस किया तो मेरे अंदर एक अलग ही जोश पैदा हो गया और पायल भी उत्तेजित हो गई।

Read More

जीवन में खुशहाली आ गयी – Part 2

मैंने उसे कहा यदि तुम्हें वह अच्छा लग रहा है तो तुम उससे अपने दिल की बात कह दो सुरभि कहने लगी लेकिन मेरी हिम्मत उससे बात करने की नहीं होती इसलिए मैंने अब तक उससे अपने दिल की बात नहीं कही, कुछ दिनों बाद सुरभि ने मुझे कहा कि मैंने उस लड़के से अपने दिल की बात कह दी है और उसने भी मुझे हां कह दिया है, उस दिन उसके चेहरे पर बहुत खुशी थी मैं समझ नहीं पा रहा था कि मुझे उस वक्त क्या करना चाहिए लेकिन मैंने उस समय चुप रहना ही मुनासिब समझा उसके बाद सुरभि मुझे कई दिनों तक नहीं मिली मुझे उससे नहीं मिलने का दुख सता रहा था मैं बहुत ज्यादा दुखी था मैंने सुरभि को फोन किया तो सुरभि ने फोन उठाते हुए कहा हां अमन कहो, मैंने उसे कहा मुझे तुमसे मिलना था, वह कहने लगी ठीक है मैं तुमसे अपने ऑफिस के बाद मिलती हूं। जब वह मुझे मिली तो उसके साथ एक लड़का भी था उस लड़के को देखकर मैं थोड़ा नर्वस सा हो गया सुरभि ने मुझे जब उससे मिलवाया तो वह कहने लगी यह सूरज है मैं सूरज की ही बात तुमसे कर रही थी, उसने मुझे सूरज से मिलवाया, मैं काफी दुखी हो गया था कुछ देर बाद वह दोनों मेरे चेहरे पर देख कर बड़ी जोर से हंसने लगे मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वह क्यों हंस रही है, तब मुझे सुरभि ने सारी बात बताई और कहा कि मैं तो तुम्हें ऐसे ही आजमा रही थी कि तुम मेरे बारे में क्या सोचते हो, जब उसने यह बात कही तो मेरे चेहरे पर एक मुस्कान आई और मुझे यह पता चल चुका था कि सुरभि ने मेरा बेवकूफ बनाया है। सूरज उसका कलीग है वह ऑफिस में उसके साथ काम करता है सुरभि मुझे सिर्फ यह दिखाना चाहती थी कि मै उससे कितना प्यार करती हू।

Read More
antarvasna com newatarvasanahindi font storiesmeri gandi kahaniadult kahani hindibhabhi ko sote hue chodaadult hot storiesbhai bahan sex storehindi sex kahannidesi porn storyantarvasna in hindi storymaa bete ki kahani hindi mejija sali ki sex storyantarvashanbahan ki chudaiantarvasna story readwww kamukta.commama ki ladki ki chudaihindi sexi khani comsexystoryantarvasna sexhindi kahani kamuktabehan ki chudai ki storybhabhi ki chudai kahanisexy kahani maa kihindi sex shtorichut land ki kahani in hindimaa ko choda hindi sex storysexy aunty hindi storybhabhi ke sath sex story in hindisex antarvasna storyanyarvasnaantervasna hindisex storyhindi story sexywww antarvasna com hindi sex storiessasur sex story hindibhai bhan sax storykahani hindi sexrandi ko kaise chodekamukta www comhindu sex storifree hindi storiesmom ki chudai hindi sex storychuchi kahaniwww antravasna story combhabhi ki story hindiantarvastra hindi kahaniyanonvege story comnon veg story hindi pdfhindi gay sex storiescudai ki khanipolice wale ne chodakaamvasna comsaxy kahanyagandi sex story hindisex stories hindi newmaa ki chudai kahani hindimaa aur bete ki chudai kahanibhai sex story in hindinonveg sex story hindioral sex hindisexy kahani hindi newgujrati sex story comantrvasna hindi sex storiesgays stories in hindigujarati saxy storyantarwasana com in hindiantarvasna newchudai hindi sex storymaa ki chut chatimaa bete ki hindi chudai kahanisexi hindi kahnisex khani hindi mchodne ki kahani hindi maihindi sexy khahanikamukata hindi sexy storysex kahani gaysex story in hindi antravasnasasur bahu sex stories